भूमिका

ताजे फलों और हरी सब्जियों के रस में विटामिन, मिनरल्स, एंजाइम और नेचुरल शुगर होता है . इनका नियमित सेवन हेल्थ के लिए काफी लाभदायक होता है . ताजे रसों में पाए जाने वाले तत्व रोगनिवारक तो होते ही है, साथ ही शरीर के इम्यून सिस्टम को भी ठीक रखते है. रोज सुबह लिया गया एक गिलास जूस दिन भर के लिए जरुरी न्यूट्रिएंस भी देता है . जूस बच्चों, गर्भवती महिलाओं,और मरीजों के लिए काफी लाभदायक होता है . ताजे फलों और हरी सब्जियों का जूस शरीर में इंटरफेरान और एंटीबॉडीज के स्तर में बढोतरी करता है. जूस में पाया जाने वाला नेचुरल शुगर हार्ट की शक्ति को बढाता है। फलों और हरी सब्जियों का जूस पीने से शरीर से यूरिक एसिड और दूसरे हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते है, जिससे शरीर में होने वाली कई बीमारियों का खतरा टल जाता है .

रस के प्रकार 

  • मीठे फलों का रस : आम, अंगूर, लाल अंगूर आदि .
  • कम अम्लीय फलों का रस : सेब, बेर, नाशपाती, पपीता आदि .
  • हरी पत्तीवाली सब्जियों का रस :पत्ता गोभी, धनियापत्ती,पालक आदि .
  • सब्जियों का रस : गाजर, टमाटर, मूली, आलू, प्याज,चुकंदर, गोभी आदि .

किसे मिक्स करें किसे नहीं

  • फलों और सब्जियों के रस का काकटेल कभी नहीं करना चाहिए, क्योंकि फल और सब्जी की तासीर अलग अलग होती है .
  • मीठे फलों के रस के साथ कम अम्लीय फलों का रस मिलाया जा सकता है .
  • अम्लीय फलों और सब्जियों के रस को नहीं मिलाना चाहिए .

पीने की मात्रा  

किसी भी जूस को डेली पीने से पहले उसे थोड़ी थोड़ी मात्रा में इस्तेमाल करके देख लें की वह आपके शरीर को सूट कर रहा है या नहीं . इसके लिए शुरू में 100 एमएल जूस डेली इस्तेमाल करें . इसके बाद डेली 50 एमएल के हिसाब से बढाएं . इस तरह 2 गिलास यानी 400 एमएल तक जूस का सेवन कर सकते है . जूस दिन में तीन  बार से ज्यादा नहीं पीना चाहिए .

सावधानियां

  • फल और सब्जियों का काकटेल जूस पीने से पेट में गैस हो सकती है
  • हमेशा ताजा रस निकालकर ही पीना चाहिए, पहले से रखे जूस को नहीं पीना चाहिए .
  • 1 घंटा पहले निकले जूस को नहीं पीना चाहिए ये सेहत के लिए अच्छा नहीं होता .
  • जूस निकलने के लिए हमेशा ताज़े फल और सब्जियां ही ले .
  • जूस ज्यादा मीठा होने पर डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और जोड़ो के दर्द में आधा पानी मिलाकर पीना चाहिए .
  • जितनी जरुरत हो उतना ही जूस निकालें ज्यादा जूस निकालकर फ्रिज में न रखें .
  • फलों और सब्जियों के जूस को निकालने से पहले अच्छी तरह धो लें .

ध्यान रहे

  • फल और सब्जियां भोजन का विकल्प नहीं है, इसलिए सिर्फ जूस पीकर न रहें . और न ही इसका ज्यादा सेवन करें . ऐसा करने पर लाभ के बजाय नुकसान हो सकता है .
  • बेमेल सब्जी और फल के जूस को कभी नहीं पीयें, यह आपका हाजमा बिगाड़ सकता है, गैस उल्टी और दस्त भी हो सकते है.

Like it on Facebook, +1 on Google, Tweet it or share this article on other bookmarking websites.

Comments (0)

There are no comments posted here yet